भारतीय संस्कृति

यह संसार की प्राचीनतम संस्कृतियों में से एक है। भारतीय संस्कृति कर्म प्रधान संस्कृति है। मोहनजोदड़ो की खुदाई के बाद से यह मिस्र, मेसोपोटेमिया की सबसे पुरानी सभ्यताओं के समकालीन समझी जाने लगी है।

भाषा

भारत में बोली जाने वाली भाषाओँ की बड़ी संख्या ने यहाँ की संस्कृति और पारंपरिक विविधता को बढ़ाया है। भारत में कुल मिलाकर ४१५ भाषाएं उपयोग में हैं भारतीय संविधान ने संघ सरकार के संचार के लिए हिंदी और अंग्रेजी, इन दो भाषाओं के इस्तेमाल को आधिकारिक भाषा  घोषित किया है

धर्म

भारतीय धर्म  विश्व के धर्मों में प्रमुख है, जिसमें हिन्दू धर्म, बौद्ध धर्म, सिख धर्म, जैन धर्म, आदि जैसे धर्म शामिल हैं आज, हिन्दू धर्म और बौद्ध धर्म क्रमशः दुनिया में तीसरे और चौथे सबसे बड़े धर्म हैं, जिनमें लगभग 1.4 अरब अनुयायी साथ हैं। ८०.४% से ज्यादा लोगों का धर्म हिन्दू धर्म है। कुल भारतीय जनसँख्या का १३.४% हिस्सा इस्लाम धर्म को मानता है भारतीय जीवन में धर्म की मज़बूत भूमिका के बावजूद नास्तिकता और अज्ञेयवादियों  का भी प्रभाव दिखाई देता है।

जाति व्यवस्था

जाति के आधार पर पाँच प्रमुख विभाजन हैं

  • ब्राह्मण – विद्वान समुदाय  जिनमें याजक, विद्वान, विधि विशेषज्ञ, मंत्री और राजनयिक शामिल होते है
  • क्षत्रिय – उच्च और निम्न मान्यवर या सरदार जिनमें राजा, उच्चपद के लोग, सैनिक और प्रशासक को शामिल होते है।
  • वैश्य – व्यापारी और कारीगर समुदाय जिनमें सौदागर, दुकानदार, व्यापारी और खेत के मालिक शामिलहोते  है।
  • शूद्र – सेवक या सेवा प्रदान करने वाली प्रजाति  में अधिकतर गैर-प्रदूषित कार्यो में लगे शारीरिक और कृषक श्रमिक शामिल हैं।
  • हालाँकि इस प्रणाली को भारतीय संविधान के कानून के जरिए अब गैरकानूनी घोषित कर दिया गया है।

परिवार

भारत में शादियों को जीवन भर के लिए माना जाता है और यहाँ तलाक की दर संयुक्त राष्ट्र अमेरिका की 50% की तुलना में मात्र1.1% है तयशुदा शादियों में तलाक की दर और भी कम होती है। हाल के वर्षों में तलाकदर में काफी वृद्धि हो रही है:

परम्परा एवं रीति

नमस्ते या नमस्कार  भारतीय उपमहाद्वीप में अभिनन्दन या अभिवादन करने के तरीके  हैं

पहनावा

महिलाओं के लिए  भारतीय कपडों में शामिल हैं, साड़ी, सलवार कमीज़ और घाघरा चोली और  पुरुषों मे धोती, लुंगी , और कुर्ता पारंपरिक वस्त्र हैं दक्षिण भारत के पुरुष सफ़ेद रंग का लंबा चादर नुमा वस्त्र पहनते हैं  जबकि महिलाएं साड़ी पहनती है बिंदी  महिलाओं के श्रृंगार का हिस्सा है। परंपरागत रूप से सिन्दूर केवल शादीशुदा हिंदु महिलाओं द्वारा ही लगाया जाता है

नृत्य

गुजरातः गरबा में शामिल होने पर दलित की पीट-पीटकर हत्या

भारतीय नृत्य  में भी लोक और शास्त्रीय रूपों में कई विविधताएं है जाने माने लोक नृत्यों में शामिल हैं पंजाब का भांगड़ा, असम का बिहू , झारखंड और उड़ीसा का छाऊ, राजस्थान का घूमर गुजरात का डांडिया और गरबा  कर्नाटक जा यक्षगान , महाराष्ट्र का लावनी और गोवा का देख्ननी भारत की संगीत, नृत्य और नाटक की राष्ट्रीय अकादमी द्वारा आठ नृत्य रूपों, कई कथा रूपों और पौराणिक  तत्व वाले कई रूपोंको शास्त्रीय नृत्य का दर्जादिया गया है। ये हैं: तमिलनाडु का भरतनाट्यम, उत्तर प्रदेश का कथक, केरल का कथककली  और मोहिनीअट्टम, आंध्र प्रदेश का कुच्चीपुडी  मणिपुर का मणिपुरी उड़ीसा का ओडिसी और असम का सत्त्रिया  सामिल है

त्योहार

भारत में कई प्रकार के धर्म होने के कारण यहां पर कई प्रकार के त्योहार मनाये जाते है जिनमे से प्रमुख है दीपावली, नौरोज, ईद, होली ,बैशाखी ,बुध्द पूर्णिमा आदि

भोजन

भारतीय व्यंजन

भारत में जितनी प्रकार की अलग-अलग संस्कृतियाँ पाई जाती है उतने ही प्रकार के व्यंजन देखने को मिलते है।

मनोरंजन और खेल

Image result for बैल दौड़

मनोरंजन और खेल के क्षेत्र में भारत में खेलों की एक बड़ी संख्या विकसित की गयी थी ब्रिटिश शासन के दौरान भारत में आये कुछ खेल यहाँ काफी लोकप्रिय हो गए जैसे फील्ड हॉकी, फुटबॉल (सॉकर) और खासकर क्रिकेट आज क्रिकेट भारत का सबसे लोकप्रिय खेल है  स्वदेशी खेलों में शामिल हैं कबड्डी और गिल्ली-डंडा है जो देश के अधिकांश भागों में खेला जाता है। शतरंज का आविष्कार भारत में किया गया था।

 

share this





Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *