न्यूटन के नियम

न्यूटन के प्रथम नियम→ इसे जड़त्व का नियम भी कहा जाता है, इस नियम के अनुसार

जब कोई पिण्ड विरामावस्था या गतिमान अवस्था में है, जब तक उस पर कोई बाह्य बल नही लगाया जायेगा तब तक उसके गति में कोई परिवर्तन नही होगा

उदाहरण→चलती हुई गाड़ी अचानक रुकने पर आदमी आगे की ओर झुक जाता है

रुकी हुई गाड़ी अचानक चलने पर आदमी पीछे की ओर झुक जाता है।

 

न्यूटन के व्दतीय नियम

किसी पिण्ड की संवेग परिवर्तन की दर उस पर लगाये बल के समानुपाती होती है।

 

दूसरे शब्दो में किसी बस्तु के संवेग में आया बदलाव उस पर लगाये गये बाह्य बल के समानुपाती होता है।

उदाहरण→ जब क्रिकेट का खिलाड़ी आती हुई गेद को पकड़ता है तो वह अपने हाथ पीछे की ओर खीच लेता है।

 

न्यूटन का त्रितीय नियम→

 इसे क्रिया प्रतिक्रिया का नियम भी कहते है, इस नियम के अनुसार किसी बल के संगत एक और बल है, या एक बल के बिना दूसरे बल का अस्तित्व नही हो सकता, यह नियम मान्य नही है

उदाहरण → बंदूख से गोली निकलने पर बंदूख का पीछे की ओर जाना

share this


« (Previous News)



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *